10 May 2011

Megh Bhagats in Literature - साहित्य में मेघ भगत

आज नेट पर सर्च मार रहा था तो नीचे दिए लिंक पर मेघ भगत बिरादरी का उल्लेख करती एक कहानी मिली. रुचिकर है. आपसे साझा कर रहा हूँ. ओड़ समुदाय पर लिखा सुंदर नाटक 'जस्मा ओड़न' मैंने पढ़ा था. परंतु मेघ समुदाय की पृष्ठ भूमि पर लिखी कोई सृजनात्मक रचना पहली बार नेट पर पढ़ी. ऑफिस से लेट हो रहा हूँ परंतु आज इसे यहाँ पोस्ट करके ही जाऊँगा. पढ़िए देसराज काली की लिखी एक सुंदर कहानी.



यह रचना प्रतिलिपि के साभार










4 comments:


ZEAL said...
Nice post. I went on that link and enjoyed reading. Thanks.
Bhushan said...
@ Zeal. I knoow Divya Ji, you are a great reader
निर्मला कपिला said...
ाभी पढ कर आयी हूँ कहानी। पंडा समाज के पास तो हर जाति हर व्यक्ति का बाओडेटा त्यार रहता है। धन्यवाद इस लिन्क के लिये।
deepak saini said...
बहुत अच्छी लगी कहानी। पढते हुए लग ही नही रहा था कि कहानी पढ रहा हूँ ऐसा लग रहा था कि फिल्म देख रहा हूँ, आँखो के आगे चित्र का खिचता चला गया। एक-एक शब्द आखिर तक जोडे रखता है