27 August 2012

Arvind Kejriwal speaks complete truth but not final truth - अरविंद केजरीवाल ने बोला पूर्ण सत्य परंतु अंतिम नहीं



मैं अरविंद केजरीवाल या इंडिया अगेंस्ट करप्शन का फैन कभी नहीं रहा. तथापि कभी किसी आंदोलन के दौरान कुछ बातें बहुत बढ़िया कही जाती हैं जिनमें आज का सत्य रहता है.

26-08-2012 को दिल्ली में अपने आंदोलन के दौरान अरविंद ने कहा है कि संसद में कोई विपक्ष नहीं है. करप्शन में कांग्रेस और भाजपा दोनों की भूमिका एक सी है. यह कह कर अरविंद ने बड़ी सच्चाई पर बड़ा हाथ रखा है. लेकिन दोनों पार्टियों में भरे उस समूह पर सीधे उँगली नहीं रखी जिसे भ्रष्ट नीतियों का जनक कहा जाता है. ऐसा नहीं है कि अरविंद को पता नहीं था. बस वे उसका नाम न लेने की राजनीति कर गए.

नए-नए अटल बिहारी ने सत्ता में आने के बाद कहा था कि कोई भी पार्टी हो सत्ता का चेहरा एक जैसा होता है. केजरीवाल की उक्ति भी वैसी ही है. केवल समय बदल गया है और कोयला घोटाले में गोरा संदर्भ मिल गया है.

पता नहीं हम कब स्वीकार करेंगे कि हमारी नीतियाँ अंग्रेज़ों की हैं और हमारे सिस्टम का कार्य ही भ्रष्टाचार है. कोई कहता है कि सत्ता काले अंग्रेज़ों के हाथ में चली गई है. यह हम भारतीयों के काले-भूरे रंग का अपमान है. सच तो यह है कि सत्ता अंग्रेज़ों के हाथ से कभी गई ही नहीं. भ्रष्टाचार संबंधी सारे कानून पढ़ कर देख लें वे सभी गोरे हैं. काले धन की सारी पर्तें उधेड़ कर देख लें उसके नीचे से कोई गोरा निकलेगा.

MEGHnet 

 

7 comments:

  1. बिल्‍कुल सही कहा आपने ... सार्थकता लिए सटीक प्रस्‍तुति .. आभार

    ReplyDelete
  2. इनकी मुहि‍म की दि‍क़्कत ये है कि‍ कोई पार्टी इनके काबि‍ल नहीं और ये लोगों के काबि‍ल नहीं...

    ReplyDelete
    Replies
    1. :)) असली बात यही है. क्या किया जा सकता है!!

      Delete
    2. tamaasha ho raha hai bas..
      logon ko jo karna hai wo kar hi rahe hai..
      salon ki maansikta aandolan se kabhi nahin badal sakti

      Delete
  3. रोटी जो सेक ले वही सिकंदर..

    ReplyDelete
  4. तेल तो इन्ही तिलों से निकलना है ... अच्छे लोग भी इसी समाज से आने हैं ... बस लोगों को जागृत होना है ...

    ReplyDelete
  5. shaan daar rachna ji aapne bahut hi achha likha hai

    hamare bhi mehman bane

    www.sukhdevkaru.blogspot.com

    ReplyDelete