30 December 2013

The reality of riots - दंगों का सच

दंगों का कारण कभी भी केवल धार्मिक और आर्थिक नहीं रहा. इनका संबंध सत्ता से रहा है और अब लोकतंत्र में सीधे तौर पर वोटों की गिनती के साथ है. कोशिश होती है कि दंगे कर के दलितों और दलितों से धर्मांतरित हुए मुस्लिमों को पहले के मुकाबले अधिक गरीब कर दिया जाए और बाद में पुनर्वास के नाम पर उन्हें उनके वोट क्षेत्र से दूर ले जाकर बसाया जाए ताकि उनके वोटों की ताकत बिखर जाए.


2 comments:

  1. Hi, i tһink that i saw you visited mү website tһus i got
    here to return the prefer?.I am attempting to in finding tһings to enhance my web
    site!I guess its good enouɡh to maҝe use of a few of үour ideas!!

    ReplyDelete
  2. I have read a few good stuff here. Definitely worth bookmarking
    for revisiting. I wonder how so much attempt you place to create this type
    of magnificent informative web site.

    ReplyDelete